Operating system

Operating system kya hai | ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है Operating system kya hai

Operating system kya hai ऑपरेटिंग सिस्टम एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होता है जिसका यूज़ यूजर ओर कंप्यूटर, कंप्यूटर और हार्डवेयर के बीच इनपुट आउटपुट को समझने का काम होता है। यह एक इंटरफ़ेस की तरह काम करता है। हर एक कंप्यूटर में एक ना एक ऑपरेटिंग सिस्टम जरूर होता है।

इसका मतलब ये नही की एक से ज्यादा ऑपरेटिंग सिस्टम नही हो सकते कभी कभी एक से अधिक ऑपरेटिंग सिस्टम भी यूज़ किया जाते है। ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर ओर कंप्यूटर के बीच कम्युनिकेशन का काम करता है कोई भी डिवाइस चाहे वो कंप्यूटर हो या मोबाइल फ़ोन हो बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के काम नही कर सकता है।

Operating system
Operating system

Operating system kaise kam krta hai ऑपरेटिंग सिस्टम कैसे काम करता है 

आपने ऊपर ये जाना कि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है अब जानते है कि ऑपरेटिंग सिस्टम कैसे काम करता है। कंप्यूटर या कोई भी डिवाइस दो चीज़ों को मिलाकर बनाया जाता है हार्डवेयर ओर सॉफ्टवेयर, ऑपरेटिंग सिस्टम इनको दोनो चीज़ों का तालमेल बनाता है 

सिस्टम पर जब भी आप कोई कमांड देते है तब ऑपरेटिंग सिस्टम उस कमांड को समझ कर हार्डवेयर को रन करता है 

किसी भी डिवाइस को जब आप ON करते है तो जो सबसे पहले ओपन होने वाली ऍप्लिकेशन् है वो ऑपरेटिंग सिस्टम है।

जैसे कि आपने किसी फ़ाइल को कॉपी किया तब ऑपरेटिंग सिस्टम कॉपी करने के लिये जिस ऍप्लिकेशन् को आप के डिवाइस में प्री-इनस्टॉल किया गया है उसको रन करके फ़ाइल को कॉपी करेगा 

अगर हम इसे एक लाइन में समझे तो Operating system kya hai ऑपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर ओर यूजर के बीच कनेक्शन बनाता है कम्युनिकेट करने के लिये।

Operating system
Operating system

ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम

ऑपरेटिंग सिस्टम वैसे तो कई प्रकार के है पर जो सबसे पॉपुलर OS है  उनमें विंडोज, लिनक्स, मैक OS, क्रोम OS, एप्पल IOS, एंड्राइड OS आदि आते है।

NoOS Name.
1Windows
2Mac OS
3Linux
4Chrome OS
5Apple IOS
6Android OS

विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम

विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम माइक्रोसॉफ्ट द्वारा बनाया गया है, विंडोज को Javascript, Visualbasic, C. आदि प्रोग्रामिंग भाषा में बनाया गया है। इसको 35 साल पहले रिलीस किया गया था 1985 में। इसके यूजर इंटरफेस को विंडोज शैल यूज़ किया जाता है।

ज्यादातर कंप्यूटर्स में विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम यूज़ किया जाता है। लगभग हर 2 से 3 साल में विंडोज का एक नया वर्शन मार्किट में लॉन्च होता है। विंडोज 2017 से लिनक्स कर्नेल का GIT ओपन सोर्स सिस्टम उसे करना सुरु किया है। 

मैक ऑपरेटिंग सिस्टम

मैक OS को एप्पल inc. ने 2001 मे बनाया यह एप्पल का मुख्य ऑपरेटिंग सिस्टम है। यह 40 भाषाओं में उपलब्ध है जिसमे हिंदी भाषा भी शामिल है। 

इसकी कर्नेल हाइब्रिड UNX है 

मैक OS को C, C++ भाषाओं में इसका कोड बनाया गया है। इसके निर्माता स्टीव जॉब्स थे जोकि एप्पल के को फाउंडर थे। उन्होंने मैक OS को बनाया था। मैक 3 बड़े आर्किटेक्चर वाले प्रॉसेसर को सपोर्ट करता है। 

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम

लिनक्स एक unix ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम का पार्ट है। जोकि लिनक्स कर्नेल सिस्टम पर बेस्ड है। 

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम को 1991 में रिलीस किया गया तब से लेकर आज तक यह काफी पॉपुलर ऑपरेटिंग सिस्टम रहा। लिनक्स को C, ओर असेम्बली लैंगुएज में बनाया गया है।  यह मोनोलिथिक कर्नेल वर्शन पर काम करता है। लिनक्स के कुछ पॉपुलर प्रारूप है जैसे डेबियन, फेडोरा, उबुन्टु आदि। 

साथ ही रेड हेट एंटरप्राइज भी इसका हिस्सा है। 

1991 के समय इसको काफी ज्यादा पसंद किया गया जाता था टोर्वल्डस ने इस ऑपरेटिंग सिस्टम को बनाया। 

क्रोम ऑपरेटिंग सिस्टम

क्रोम ऑपरेटिंग सिस्टम गूगल द्वारा 2011 में बनाया गया  यह gentoo बेस्ड ऑपरेटिंग सिस्टम है।

यह ऑपरेटिंग सिस्टम खास तौर पर क्रोम बुक लैपटॉप के लिये बनाया गया। वेब ब्राउज़र के आधार पर इसको बनाया गया।

क्रोम बुक वेब ऍप्लिकेशन्स पर आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम है। जोकि वेब ऍप्लिकेशन् रन करता है। यह क्रोम एप्प के फुल सपोर्ट केसाथ उपलब्ध है। यह एंड्राइड ऍप्लिकेशन्स ओर लिनक्स को भी सपोर्ट करता है।  क्रोम OS गूगल के द्वारा हार्डवेयर में प्री इन्सटाल्ड होता है।  यह भी एक ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है।

एप्पल I’OS

एप्पल IOS एक मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है जोकि एप्पल INC. द्वारा बनाया गया है। मुख्य रूप से इसके हार्डवेयर के लिये बनाया गया है। यह आपको कई डिवाइस में देखने को मिल जाता है ipod, iphone, ipodtouch आदि। यह विश्व का 2 सबसे ज्यादा यूज़ किया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम हैं। एंड्राइड के बाद में। इसकी के आधार पर एप्पल ने 3 ओर IOS बनाये TvIOS, watchOS, IpodOS। 

एप्पल IOS भी एक ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है

एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम 

एंड्राइड भी एक मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है जोकि मोडिफाई लिनक्स कर्नेल पर बेस्ड है। यह मुख्य रूप से टच स्क्रीन वाले मोबाइल्स के लिये बनाया गया है। इसको 2008 में रिलीस किया गया। पर इसको 2004 में ही बना लिया गया था। 

इसको बनाने के लिये Java, C, C++ आदि प्रोग्रामिंग भाषाओ का इस्तेमाल किया गया है। एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम 100 से भी ज्यादा भाषाओं को सपोर्ट करता है। और विश्व भर में सबसे ज्यादा यूज़ किया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है। Operating system kya hai

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार

  • बैच ऑपरेटिंग सिस्टम
  • रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम
  • नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम
  • मल्टी प्रॉसेसर ऑपरेटिंग सिस्टम
  • टाइम शेयरिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
  • डिस्ट्रिब्यूटेड ऑपरेटिंग सिस्टम
  • सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम
  • मल्टी टास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम

बैच ऑपरेटिंग सिस्टम

जो यूजर बैच ऑपरेटिंग सिस्टम यूज़ करता है वो डायरेक्टली कंप्यूटर को ऑपरेट नही कर सकता इसमे कार्ड्स के माध्यम से कॉम्प्यूटर को कमांड दिए जाते थे। 

पर अब इस ऑपरेटिंग सिस्टम का उसे नही किया जाता है।

रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम

रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम ऍप्लिकेशन्स का प्रोसेसिंग ओर डेटा रियल टाइम मैं दिखाया जाता है।

रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम का ऑनलाइन रिजर्वेशन सिस्टम और एयरलाइंस ट्रेफिक कंट्रोलर सिस्टम के द्वारा यूज किया जाता है रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम एंबेडेड एप्लीकेशन में यूज किया जाता है

नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम

नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम नेटवर्क डिवाइस में यूज किया जाता है जैसे कि राउटर स्विचस फर्मवेयर आदि में यूज किया जाता है जो डिवाइस दूसरे डिवाइस इसको नेटवर्क सपोर्ट देते हैं ऐसे डिवाइसेज में नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम का यूज किया जाता है

मल्टी प्रोसेसर ऑपरेटिंग सिस्टम

मल्टिप्रोसेसर ऑपरेटिंग सिस्टम वह ऑपरेटिंग सिस्टम होता है जिसमें एक और एक से अधिक सीपीयू एक ही कंप्यूटर से जुड़े होते हैं और यह ऑपरेटिंग सिस्टम की कॉपी इन दोनों सीपीयू में होती है यह सीपीयू आपस में एक दूसरे के साथ कम्युनिकेट कर सकते हैं

टाइम शेयरिंग ऑपरेटिंग सिस्टम

टाइम शेयरिंग ऑपरेटिंग सिस्टम को स्पेक्ट्रा 70 सीरीज के कंप्यूटर में इस्तेमाल किया जाता है इस ऑपरेटिंग सिस्टम को टी एस ओ एस के नाम से भी जाना जाता है

डिस्ट्रीब्यूटेड ऑपरेटिंग सिस्टम

डिस्ट्रीब्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है जो कि एक इंडिपेंडेंट कंप्यूटर नोट की सहायता से कम्युनिकेट करता है डिस्ट्रीब्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम को हाई स्पीड बसों में क्लाइंट सर्वर में 3टीयर आदि में यूज किया जाता है

सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम

ऐसा ऑपरेटिंग सिस्टम जो किसी यूजर को एक समय में एक ही डांस परफॉर्म करने का मौका दें उस ऑपरेटिंग सिस्टम को सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम कहते हैं जैसे कि किसी इमेज को प्रिंट करना किसी इमेज को डाउनलोड करना यह दोनों टास्क एक समय में एक ही बार की जा सकती है उदाहरण के तौर पर एमएस डॉस

मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम

यह वह ऑपरेटिंग सिस्टम है जो आजकल हर डिवाइस में यूज होता है यह यूजर को एक से अधिक  टास्क करने में सहायता करता है मतलब की हो जो इसमें 1 से अधिक टास्क या एक से अधिक काम एक ही समय में कट सकता है ओड़िया ऑपरेटिंग सिस्टम आजकल कई डिवाइसेज में देखने को मिलता है

12 thoughts on “Operating system kya hai | ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *