Proximity sensor in hindi | प्रोक्सिमिटी सेंसर क्या होता है

इस पोस्ट में आज हम जानेंगे कि सेंसर क्या है ओर proximity sensor meaning in hindi आपने  फ़ोन कॉल करते समय ध्यान दिया होगा, जब आप फ़ोन के पास कोई ऑब्जेक्ट या हाथ, कान लगते है

तब फ़ोन की स्क्रीन बन्द हो जाती है ऐसा इस लिये की proximity sensor उस समय active होता है। चलिए जानते है सेंसर क्या होता है ओर proximity सेंसर के बारे में

Sensor ke use
Sensor

What is sensor in hindi

Sensor, device में लगा वो पार्ट होता है जो कि उस device के आसपास की चीज़ों, जैसे किसी वस्तु, व्यक्ति, तापमान, आद्रता, हवा, दूरी, गति आदि का

डेटा रेकॉर्ड करके उस device को भेजता है। उसे सेंसर कहते है। 

जैसे इंसानों ओर जानवरों में ज्ञानेंद्री की सहायता से चीज़ों का पता चलता है ठीक वैसे ही एक डिवाइस में सेंसर ज्ञानेंद्री का काम करता है।

Sensor meaning in hindi को हम किसी डिवाइस में लगी ज्ञानेंद्री की तरह समझ सकते है सेंसर का मतलब ही ज्ञानेंद्री होता है।

Proximity sensor क्या है

Proximity sensor वह सेंसर है जो किसी भी object की दूरी ओर भौतिक परिवर्तन के हिसाब से पता लगता है, 

इस सेंसर में मुख्य रूप से 4 पार्ट होते है Coil, Oscillator, Output circuit, Detection circuit

इसमे लगा Oscillator ओर coil एक मैग्नेटिक फील्ड जनरेट करता है। जोकि एक चुम्बकीय क्षेत्र होता है। 

Detection circuit की सहायता से उस क्षेत्र में यदि कोई Object आता है तो उस चुम्बकीय क्षेत्र में हुए बदलाव का पता लगाता है। 

इसी आधार पर proximity सेंसर किसी भी वस्तु का पता लगाने में समर्थ होता है। डिटेक्शन सर्किट यह डेटा Output सर्किट तक भेजता है। और सेंसर उस वस्तु की दूरी का पता लगाता है। 

इसमे दो मुख्य भाग प्रोक्सिमिटी ओर डेटेक्टिंग है। चलिए इनके बारे में विस्तार से जानते है। 

Proximity meaning in hindi 

प्रोक्सिमिटी का शाब्दिक अर्थ है निकटता, जब कोई भी वस्तु effected एरिया में आती है तब उस क्षेत्र में हुए चुम्बकीय बदलाव की सहायता से उसकी प्रोक्सिमिटी का पता चलता है। 

Detecting meaning in hindi

Detecting का अर्थ है पता लगाना प्रोक्सिमिटी सेंसर में लगे डेटेक्टिंग सर्किट को चुम्बकीय क्षेत्र में हुए बदलाव का पता चलता है उस प्रोसेस को डेटेक्टिंग प्रॉसेस कहते है।

Proximity sensor को प्रकार 

वैसे तो प्रोक्सिमिटी सेंसर  कई प्रकार के होते है पर जो सामान्य रूप से काम आते है वो चार प्रकार के होते है

IR sensor, inductive sensor, capacitive sensor, ultrasonic sensor

IR Sensor

इसको infrared proximity sensor भी कहते है infrared के बारे में हमने एक पोस्ट में विस्तार से बताया है। 

इस सेंसर में वही चार कॉम्पोनेन्ट लगे होते है जिनका जिक्र हमने ऊपर किया है। 

ट्रांसमीटर से infrared निकलके किसी ऑब्जेक्ट से टकरा कर वापस लोटती है तो डेटेक्टिंग सर्किट उस ऑब्जेक्ट की दूर का पता लगाने में समर्थ होता है। 

ओर आपके फ़ोन का टच डिसएबल कर दिया जाता है। 

OLED डिसप्ले वाले मोबाइल फ़ोन्स में यह सेंसर डिस्प्ले के अंदर भी लगाया जा सकता है। 

Inductive Sensor

Inductive सेंसर metal धातुओं का पता लगाने के लिये किया जाता है। इसकी सहायता से किसी भी धातु के आसानी से पता लगाया जा सकता है।

पर यह सेंसर प्लास्टिक की वस्तुओं के लिये काम नही करता है। इसका उसे metal डिटेक्टर बनाने, उधोगों में किया जाता है। 

Capacitive Sensor

कैपेसिटिव प्रोक्सिमिटी सेंसर का यूज़ धातु तथा प्लास्टिक की वस्तुओं दोनो के लिये किया जाता है। इसे फ़ोटो इलेक्ट्रिक सेंसर के नाम से भी जाना जाता है।

इसका उसे भी उधोगों में बहुतायत में किया जाता है। 

कारो में लगा सेंसर इसका एक उधारण है। जब किसी गाड़ी को बैक, पीछे की तरफ लिया जाता है और पीछे कपि वस्तु हो तब सेंसर से जुड़ा स्पीकर आवाज करने लगता है। 

Ultrasonic Sensor 

अल्ट्रासोनिक सेंसर धातु प्लास्टिक एवम धूल के बारीक कणों के पता लगाने में शक्षम है। 

यह सेंसर हर तरह के वातावरण में ऑपरेट किया जा सकता है

इसमे एक कमी इसकी कम दूर वाली वास्तु का पता लगाना है एवं इसकी लागत भी बाकी सेंसर की तुलना में अधिक है। 

प्रोक्सिमिटी सेंसर किसी भी वस्तु को डिटेक्ट करने में काफी सटीक होता है।

इसमे त्रुटि की आसंका बहुत कम होती है साथ ही यही किसी भी वस्तु की एक्जैक्ट इस्थति का पता लगाने में शक्षम है। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *